भारत की राजधानी का नाम क्या है । Bharat Ki Rajdhani Kahan Hai

प्रतियोगी परीक्षाओ में अक्सर यह सवाल पूछा जाता है कि Bharat Ki Rajdhani Kahan Hai दोस्तों भारत की राजधानी का नाम नई दिल्ली ( New Delhi ) है। नई दिल्ली भारत के केंद्रशासित प्रदेशो में सम्मिलित स्थान है। दिल्ली के बारे में बहुत ही रोचक और सिखने योग्य जानकारी है जो आप लोगो जान लेना चाहिए। इस लेख में हम भारत की राजधानी दिल्ली के बारे कुछ खाश तथ्य आपको बताने वाले है, तो लेख को लास्ट तक पढ़ना। 

Bharat Ki Rajdhani Kahan Hai
Bharat Ki Rajdhani Kahan Hai

भारत की राजधानी क्या है – What Is The Capital Of India

भारत देश की राजधानी दिल्ली है। भारत एशिया महाद्वीप का हिस्सा है जिसे हिंदुस्तान नाम से भी जाना जाता है। यह एशिया महाद्वीप के दक्षिण में स्थित है। जनसंख्या की दृष्टि से भारत दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा देश है। भौगोलिक स्वरूप के अनुसार भारत उत्तरी गोलार्द्ध में स्थित है। इसका सबसे बड़ा शहर मुंबई है। यहां की दो राजभाषाएं हिंदी और अंग्रेजी है। लेकिन राष्ट्रिय भाषा का दर्जा हिंदी को दिया गया है।


भारत के बारे में महत्वपूर्ण तथ्य 

  • भारत में लगभग सभी धर्मो के लोग निवास करते है इसलिए भारत को धर्मनिरपेक्ष देश भी कहते है। 
  • भारत एक लोकतांत्रिक गणराज्य है। 
  • यहां का संविधान संसार का सबसे लंबा लिखित संविधान है।
  • भारत के वर्तमान राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी है।
  • इस देश में कुल 28 राज्य और 9 केंद्र शासित प्रदेश है। 
  • यहां की कुल जनसंख्या 1 अरब 21 करोड़ के लगभग है। 
  • भारत में 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस और 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस मनाया जाता है। 
  • जन गण मन यहां का राष्ट्रगान और वंदेमातरम् राष्ट्रगीत है।
  • 32,87,263 वर्ग कि.मी. इसका क्षेत्रफल है। 
  • यहां का राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा, राष्ट्रीय पक्षी मोर और राष्ट्रीय खेल हॉकी है।


दिल्ली को भारत की राजधानी क्यों चुना गया – Why Delhi Is Capital Of India

दिल्ली को भारत की राजधानी बनाने के कई मुख्य कारण है जिन्हे आगे जानेंगे। दिल्ली से पहले भारत की राजधानी ब्रिटिश काल में कलकत्ता थी जिसे कोलकाता नाम से जाना जाता है। दिल्ली को भारत की राजधानी बनाने का मुख्य कारण अग्रेजो की शासन व्यवस्था थी, क्योंकि ब्रिटिश सरकार ज्यादातर समय दिल्ली में रहती थी। शासन सँभालने के लिए उन्हें बार-बार कलकत्ता जाना पड़ता था। तब दिल्ली को राजधानी बनाने के लिए जॉर्ज पंचम ने आदेश दिए। तब अंग्रेजी सरकार का शासन जॉर्ज पंचम के हाथ में था। जॉर्ज पंचम ने दिल्ली को राजधानी बनाने का आदेश 12 दिसम्बर 1911 को दिया और 1 अप्रैल 1912 को दिल्ली भारत की राजधानी बन पाई। यही मुख्य कारण है जिसकी वजह से दिल्ली को भारत की राजधानी बनाया गया। इसलिए अंग्रेजो ने दिल्ली को ही भारत की राजधानी घोषित कर दी और यहाँ से ही शासन व्यवस्था चलने लगे। 


भारत की राजधानी “दिल्ली” का इतिहास – History of Delhi

दिल्ली का इतिहास बहुत ही रोचक जिसे पढ़ने के बाद आपको कई महत्वपूर्ण जानकारियाँ जानने को मिलेगी। 

  • दिल्ली का पुराना नाम इंदरप्रस्थ था। 
  • अनंगपाल को दिल्ली की स्थापना करने वाला शासक माना जाता है।\
  • पृथ्वीराज रासो के अनुसार 1200 ईस्वी तक तोमर वंश का शासन दिल्ली में रहा।
  • दिल्ली को दिल्लिका शब्द के रूप में भी जाना जाता है।
  • 1300 ईस्वी के बाद दिल्ली पर 5 वंश के सुल्तानों का शासन रहा। जिनमें गुलाम वंश, खिलजी वंश, तुगलक वंश, सैयद वंश और लोधी वंश आदि ने शासन किया।
  • पहला शासक कुतुबुद्दीन ऐबक और अंतिम शासक इब्राहिम लोधी रहा। 
  • केंद्र सरकार के मुख्यालय नई दिल्ली में ही स्थित है। एक तरह से भारत सरकार की केंद्रीय शक्ति दिल्ली ही है।
  • इतना ही नहीं नई दिल्ली जनसंख्या की दृष्टि से भारत की दूसरी सबसे बड़ी city है।
  • दिल्ली भारत का बहुत प्राचीन यानी पुराने नगरों में से एक है। पुरातात्विक विभाग ने इसके प्राचीन होने के कई प्रमाण खोज निकाले हैं।
  • विश्व का सबसे बड़ा हिन्दू मन्दिर “अक्षरधाम” दिल्ली में ही स्थित है। जो कि हिंदुओं की आस्था का एक मुख्य केंद्र है।
  • भारत का सबसे बड़ा व्यस्ततम मेट्रो दिल्ली में स्थित मेट्रो ही माना जाता है। कोलकाता के बाद दूसरे नम्बर पर यहीं मेट्रो ट्रेन की शुरुआत हुई।
  • दिल्ली भारत में पर्यटन का और शिक्षा का एक मुख्य केंद्र माना जाता है।
  • राष्ट्रपति भवन से लेकर संसद भवन भी दिल्ली में ही स्थित है।
  • भारत की विश्व धरोहर में शामिल लाल किला भी दिल्ली में ही है। इतना ही नहीं india gate भी यहीं है।
  • महात्मा गांधी की समाधि राजघाट भी दिल्ली में ही स्थित है। इतना ही नहीं कई बड़ी-बड़ी शख्सियत के नाम दिल्ली से जुड़े हैं।
  • दिल्ली को world की पुस्तक राजधानी के नाम से भी जाना जाता है।

भारत की राजधानी से जुड़े हुए प्रशन 


1. भारत की राजधानी कहाँ है?

उत्तर - भारत की राजधानी नई दिल्ली ( New Delhi ) है। 

2. सबसे पहले भारत की राजधानी क्या थी?

उत्तर - बता दें कि भारत पर अंग्रेज शासनकाल के दौरान सन 1911 तक भारत की राजधानी कलकत्ता (अब कोलकाता) थी।

3. ऐसा कौन सा शहर है जो 1 दिन के लिए भारत की राजधानी बना था?

उत्तर - एक नवंबर 1858 को ब्रिटिश सरकार ने प्रयागराज में एक शाही दरबार का आयोजन किया था। तब इस शहर को एक दिन भारत की राजधानी बनने का गौरव मिला था।

4. कोलकाता से पहले कौन सी राजधानी थी?

उत्तर - ब्रिटिश राज के दौरान, 1911 तक, कलकत्ता भारत की राजधानी थी। 19वीं शताब्दी के उत्तरार्ध तक, शिमला ग्रीष्मकालीन राजधानी बन गया था। किंग जॉर्ज V ने 12 दिसंबर 1911 को 1911 के इम्पीरियल दरबार के चरमोत्कर्ष पर कलकत्ता से दिल्ली में राजधानी के स्थानांतरण की घोषणा की।

5. भारत की दूसरी राजधानी कौन सी है?

उत्तर - पहली राजधानी शिमला और दूसरी राजधानी धर्मशाला है। जी हां, शिमला को ग्रीष्मकालीन राजधानी माना जाता है और धर्मशाला को शीतकालीन राजधानी माना जाता है।

तो दोस्तों, आज हमने भारत की राजधानी दिल्ली के बारे में विस्तार से कई बातें जानी। साथ ही हमने दिल्ली से जुड़ी हर छोटी जानकारी को शेयर करने की कोशिश की है। ये जानकारियां आपके सामान्य ज्ञान को तो बढ़ायेगी ही साथ ही आपके परीक्षाओ में भी सहायक सिद्ध होगी। अगर आपको फिर भी Bharat Ki Rajdhani Kahan Hai के बारे में प्रशन पूछना है तो कमेंट बॉक्स में पूछ सकते है। 

यहाँ से शेयर करे इस जानकरी को लोगो के साथ। 

Related -

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ