Skip to content Skip to sidebar Skip to footer

Custom Widget

The Lion and Mouse Story in Hindi - शेर और चूहे की कहानी

आज की इस पोस्ट में हम The Lion and Mouse Story in Hindi में लिख रहे है। यदि आप भी शेर और चूहे की कहानी ढूंढ रहे है तो आप सही जगह पर है यहाँ पर हमने Lion and Mouse Story in Hindi With Moral लिखी है। 

The Lion and Mouse Story in Hindi
The Lion and Mouse Story in Hindi 

शेर और चूहे की कहानी यहाँ से शुरू होती है। 

The Lion and Mouse Story in Hindi 

एक समय की बात है एक बहुत बड़े जंगल में एक शेर राज करता था। एक दिन वह शेर दोपहर के शिकार को खाकर एक पेड़ के नीचे आराम से सो रहा था। तभी वहां पर एक चूहा आया। जब चूहे ने शेर को गहरी नींद में सोता हुआ देखा तो चूहे को मस्ती करने की इच्छा होने लगी, तभी वह चूहा सोये हुए शेर के ऊपर इधर-उधर कूदने लगा। यह सब करने से चूहे को बहुत मजा आ रहा था। 

चूहे की इन मस्ती भरी हरकतों की वजह से शेर नींद से उठ गया और गुस्से में तेज दहाड़ लगाई। अब चूहे को पता लग चूका था कि उसकी वजह से शेर की नींद खराब हो गयी है और शेर बहुत गुस्से में है। इसलिए उस चूहे ने अपने प्राणों की रक्षा की भीख मांगी एवं कहा की मुझे छोड़ दो, मेरे से आपकी जो भी मदद हो पायेगी वो में आपके लिए कर दूंगा। 

चूहे की यह बात सुनकर शेर जोर-जोर से हंसने लगा और कहा कि तुम छोटे से चूहे मेरी क्या मदद करोगे। शेर ने कहा की अभी तेरी किस्मत अच्छी है मेने दोपहर का शिकार खाया ही है इसलिए में तुम्हे जीवनदान देता हूँ। यह कहकर शेर ने चूहे को जीवनदान दे दिया। चूहे ने शेर को धन्यवाद कहा और वहां से चला गया। 

कुछ दिनों के बाद जंगल का राजा शेर जंगल में घूम रहा था तभी अचानक वहां पर कुछ शिकारी शेर का शिकार करने आ गए। उन सभी शिकारियों ने मिलकर शेर को पकड़ने का जाल बिछाया। शेर शिकारियों द्वारा बिछाये गए जाल में फंस गया। शिकारी शेर को बिछे हुए जाल में फंसा हुआ देखकर पास ही के शहर से पिंजरे वाली गाड़ी लेने चले गए ताकि वो शेर को वहां से ले जा सके। 

शेर जाल में फंसने के बाद जोर-जोर से दहाड़ने लगा। शेर की दहाड़ सभी जानवर सुन रहे थे और उस चूहे ने भी शेर की दहाड़ सुनी। तभी चूहे ने शेर को जाल में फंसा हुआ देखा। चूहे ने सभी जानवरो से शेर की मदद करने की पेशकश की परन्तु कोई जानवर मदद करने के लिए नहीं गया। 

चूहा शेर के पास गया और उस जाल को अपने नुकीले दांतो से काटने लगा। कुछ ही समय में चूहे ने जाल को पूरी तरह से काट दिया और शेर को जाल से मुक्त करवा दिया। जाल से मुक्त होने के बाद शेर ने चूहे से धन्यवाद कहा।

इस बात पर चूहे ने कहा की पता है आपको मैंने आपसे उस दिन कहा था कि मेरे से जो भी मदद होगी वो में आपके लिए करूंगा। लेकिन आपने मेरी बात को मजाक में ले लिया था। तभी शेर को अपनी कही हुयी बात के लिए शर्मिंदा होना पड़ा। 

इसके बाद शेर ने उस चूहे को अपना मित्र बना लिया और कहा की तुम्हे जब भी मेरी मदद की जरुरत पड़े मुझे याद कर लेना, में हाजिर हो जाऊंगा। उसके बाद चूहा ठीक है कहकर वहां से जाने लगा तो शेर ने कहा कि क्या आज तुम मेरी पीठ पर नहीं कूदोगे। 

चूहे ने जब शेर के मुँह से यह बात सुनी तो वह शेर की पीठ पर मस्ती करने लग गया। तभी अचानक वो शिकारी पिंजरे वाली गाड़ी सहित वहाँ पहुँच गए। शेर को जाल से मुक्त देखकर वो सभी शिकारी बहुत घबरा गए एवं शेर ने एक दहाड़ लगाकर उन्हें वहाँ से भगा दिया। 

Moral of the Story - शेर और चूहे की इस कहानी से हमे यह शिक्षा मिलती है कि हमे कभी भी किसी को कम नहीं आंकना चाहिए क्योंकि किसी भी वक्त कोई भी काम आ सकता है। जिस प्रकार शेर ने चूहे को छोटा समझकर मजाक उड़ाया उस प्रकार हमे किसी की मजाक नहीं बनानी चाहिए। 

हमे उम्मीद है आपको हमारे द्वारा लिखी गयी Lion and Mouse Story in Hindi पसंद आयी होगी। आप इस कहानी को शेयर भी कर सकते है 

एक टिप्पणी भेजें for "The Lion and Mouse Story in Hindi - शेर और चूहे की कहानी"